शनिवार, 24 जनवरी 2015

लुईस ब्रेल

लुईस ब्रेल
लुईस ब्रेल नेत्रहीन व्यक्तियों के लिए वरदान कही जाने वाली  “ब्रेल लिपि” के जनक माने जाते हैं। लुईस ब्रेल ने ही “ब्रेल लिपि” का अविष्कार कर नेत्रहीनों के लिए ज्ञान के मार्ग खोले। लुईस ब्रेल का जन्म फ़्रांस में पेरिस के निकट एक छोटे से गांव में 4 जनवरी सन् 1809 में हुआ। सिर्फ़ तीन साल की छोटी से उम्र में एक हादसे में उन्होंने अपनी दोनों आंखों की रोशनी गंवा दी। बुद्धिमान ब्रेल नेत्रहीनों के पढ़ने के लिए एक रास्ता खोजना चाहते थे। 12 साल की उम्र में उन्होंने डाट्स की एक प्रणाली के साथ प्रयोग किया। 17 साल की उम्र में उन्होंने एक नई प्रणाली का अविष्कार किया जिसे “ब्रेल लिपि” कहा जाता है। लुईस ब्रेल का निधन 6 जनवरी सन् 1852 को हुआ।
(साभार)

कोई टिप्पणी नहीं: