शुक्रवार, 16 मई 2008

संकल्प

यूं चिर विनाश करने से
ना होगा कायाकल्प
अमन स्थापन का बच रहा
अंतिम एक विकल्प
संहार छोड़ कर लें अब हम
सरजन का दरढ संकल्प

-हेमंत रिछारिया

कोई टिप्पणी नहीं: